कहीं मधुमक्खियों के डंक तो कहीं चिडिय़ों की बीट से बढ़ाया जा रहा है सौन्दर्य - GST In India

Saturday, 25 March 2017

कहीं मधुमक्खियों के डंक तो कहीं चिडिय़ों की बीट से बढ़ाया जा रहा है सौन्दर्य

कहीं मधुमक्खियों के डंक तो कहीं चिडिय़ों की बीट से बढ़ाया जा रहा है सौन्दर्य

ताउम्र जवां रहना तो किसी के बस की बात नही लेकिन बढ़ती उम्र के साथ-साथ घटते सौदर्य को रोकने के लिए महिलाएं हमेशा प्रयासरत रहती हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि त्वचा की कसावट बरकरार रखने के लिए मधुमक्खियों के डंक का इस्तेमाल करते हैं। ऐसा करने वालों के अनुसार मधुमक्खियों के डंक से त्वचा में झुर्रियां नहीं आती हैं।
जी हां, आजकल ट्रेंड में ऐसे नुस्खे चल रहे हैं जिनके बारे में किसी ने कभी सोचा भी नहीं होगा। त्वचा की कसावट बरकरार रखने के लिए मधुमक्खियों के डंक का इस्तेमाल करते हैं। ऐसा करने वालों के अनुसार मधुमक्खियों के डंक से त्वचा में झुर्रियां नहीं आती हैं। इस तरीके से चेहरे पर निखार तो आता है लेकिन आपको हमारी सलाह है कि इसे आप अपने घर पर बिल्कुल ने आजमाएं।
अगर आप सोच रहे हैं कि मधुमक्खियों से कटवा कर फेशियल करवाना ही सबसे खतरनाक तरीका है तो आप गलत हैं। क्योंकि कुछ जगहों पर स्किन को फेयर बनाने और उसपर से दाग धब्बे मिटाने के लिए जोंकों का इस्तेमाल किया जाता है। इस तरह के फेशियल में चेहरे पर जोंक को चिपका दिया जाता है। जोंक चेहरे का खून चूसते हैं। ऐसा तरीका अपनाने वालों के मुताबिक जोंक चेहरे के गंदे खून को चूस कर निकाल देता है।
ैइसी प्रकारकई लोग तो पक्षियों के बीट से भी चेहरे की मसाज करते हैं। दरअसल पक्षियों के बीट को सुखाकर उसका पाउडर बना लिया जाता है। उस पाउडर को चेहरे के मसाज के लिए इस्तेमाल में लाते हैं। खूबसूरती बढ़ाने के ऐसे ही बहुत से अनोखे तरीके आजकल ट्रेंड में हैं।